Awareness and Solution for common problems, Benefits of Yoga and Pranayam.

Health लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Health लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कैंसर क्या है, लक्षण, कैंसर के कारण और बचाव, Cancer prevention better than cure

कैंसर के बारे में कुछ तथ्य

कैंसर क्या है (What is Cancer) 

हमारे शरीर में करोडो कोशिकाएं (Cells) रोज बनती है और नस्ट होती हैं लेकिन जब हमारा बॉडी सिस्टम ख़राब कोशिकाओं या असामान्य कोशिकाओं को नस्ट नहीं कर पाता तो ये ख़राब कोशिकाएं असमान्य रूप से बढ़ने लगती हैं तो उसे कैंसर Cancer कहते हैं.

कैंसर शरीर के किसी भी अंग या ऊतक(Tissue) में शुरू हो सकता है जब असामान्य कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ती हैं, शरीर के आस-पास के हिस्सों पर  या अन्य अंगों में फैल जाती हैं और शरीर के उस भाग को प्रभावित करती है जिससे वह अंग या ऊतक ठीक से काम नहीं कर पाता और धीरे धीरे उस अंग या ऊतक पर उनका कंट्रोल हो जाता है.

अंग या ऊतक कितना प्रभावित हुआ है इसे हम डॉक्टर की भाषा में कहते है की किस स्टेज का कैंसर है, स्टेज-1 स्टेज-2, स्टेज-3 ...

Neoplasm और Malignant कैंसर के अन्य नाम हैं.

विश्व में होने वाली मौतों का दूसरा सबसे बड़ा कारण कैंसर है, 2018 में अनुमानित 9.6 मिलियन लोगों की मृत्यु, या छह में से एक मौत, फेफड़े, प्रोस्टेट, कोलोरेक्टल, पेट और यकृत कैंसर पुरुषों में कैंसर के सबसे आम प्रकार हैं, जबकि स्तन (Breast), Colo-rectal, फेफड़े(Lung), Cervical and  थायरॉयड कैंसर महिलाओं में सबसे आम हैं.

कैंसर के लक्षण

  1. शरीर के किसी भी अंग में सूजन या  गॉंठ (जिसमे दर्द ना हो)
  2. बिना कारण वजन घटना, कमजोरी आना या खून की कमी
  3. शरीर में ऐसा कोई घाव जो ठीक न हो रहा हो
  4. स्‍तनों में गॉंठ होना
  5. मल, मूत्र, उल्‍टी आदि में ब्लड आ रहा हो
  6. आवाज में बदलाव, निगलने में दिक्‍कत
  7. लम्‍बे समय तक लगातार खॉंसी का आना

डेंगू बुखार का प्रभावी आयुर्वेदिक इलाज - Dengue Fever

कैंसर होने के कारण

  1. प्रदूषित पर्यावरण 
  2. इम्यून सिस्टम कमजोर होना  
  3. सिगरेट, बीड़ी, पान मसाला, तम्बाकू का सेवन
  4. असंतुलित और ख़राब भोजन, ज्यादा  तला भुना भोजन, पैक्ड फ़ूड का सेवन
  5. शराब का सेवन
  6. कुछ रसायन और दवाईयों से भी कैंसर होता है 
  7. ज्यादा उम्र के बढ़ने पैर भी कैंसर हो सकता है 

कैंसर से बचाव कैसे करें 

  1. फलों  और सब्जियों का ज्यादा खाएं और साथ में ये जरूर ध्यान में रखे की फल और सब्जियां  सीजन की हो.
  2. शराब, गुटका, पान मसाला, तम्बाकू आदि का सेवन बिलकुल भी न करें क्युकी इससे फेफड़े का कैंसर होने की संभावना बहुत  बढ़ जाती है.
  3. अपने इम्यून सिस्टम को हमेशा मजबूत बना के रखें, इम्यून सिस्टम कभी कमजोर नहीं होना चाहिए क्युकी इम्युनिटी वीक होने से कैंसर ही नहीं और बहुत सी बीमारियों से आप परेशान हो सकते है.
  4. अपने आप को फिट रखें, मोटापा आपके लिए खतरनाक होता है इसलिए खाने पीने का ध्यान रखे ऐसी कोई भी चीज न खाएं जिससे आपका मोटापा बढे और आप कैंसर व अन्य बीमारियों की चपेट में आए.
  5. योगा और ब्यायाम डेली करे इसे अपनी डेली रूटीन में शामिल करें, हम सब को कम  से कम आधे से एक घंटे रोज योगा और ब्यायाम करना बहुत जरुरी है.
  6. कैंसर पेशेंट को धूप से बचना चाहिए क्योंकि सूरज की पराबैगनी किरणें स्किन कैंसर के खतरे को बढ़ा सकती हैं.

इम्यूनिटी को बढ़ाऐ और रोगों से छुटकारा पाए

  1. अनुलोम विलोम
    अनुलोम विलोम


कपालभाती
कपालभाती

गठिया रोग का इलाज घरेलु विधि द्वारा, Arthritis Treatment


हम सभी को समय समय पर अपना सम्पूर्ण हेल्थ चेक-अप करवाते रहना चाहिए इससे आपको किसी बीमारी का पता शुरूआती स्टेज में लग जाएगा और आप उसके अनुसार अपना इलाज शुरू कर देंगे क्युकी कैंसर के केस में यह बहुत जरुरी हो जाता है की आपका कैंसर किस स्टेज में है , अगर आपका कैंसर फर्स्ट स्टेज में है तो आपके ठीक होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है और आप कम खर्चे में पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे, लेकिन अगर आपको कैंसर का पता देर से लगता है तो आपके कितने पैसे खर्च हो जायेंगे ये कोई नहीं बता सकता और ठीक होंगे या नहीं इसकी भी कोई गारंटी नहीं होती इसलिए समय समय पर  चेक-अप जरूर कराएं और डॉक्टर से सलाह लेते रहें.
अपनी दिनचर्या ठीक रखें - समय पर सोएं और समय पर उठे रोज योगा और ब्यायाम जरूर करें, अच्छा खाना खाएं, शराब आदि का सेवन न करें.


Share:

हार्ट को हेल्थी कैसे बनायें, हार्ट को स्ट्रांग बनायें , Yoga & Exercise for Healthy Heart

आज कल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई किसी न किसी बीमारी से परेशान है जिसमे हार्ट की समस्या एक प्रमुख बीमारी है, इसका मुख्य कारण खाने पीने की गलत आदत, शराब, सिगरेट आदि का सेवन, ज्यादा वसायुक्त खाना, कोई फिजिकल एक्टिविटी न करना, ज्यादा टेंशन लेना आदि बहुत सारे कारण हो सकते तो आज हम विस्तार में इस पर चर्चा करेंग और जानेंगे कि हार्ट को स्वस्थ और स्ट्रांग रखने में क्या क्या करें और क्या क्या ना करें.

Heart
Heart

फाइबर युक्त खाना खाएं:

राजमा, दाल, टमाटर, गाजर, ब्रॉकली, चुकंदर, केला, दलिया, सेम, सेब, नींबू, नाशपाती, अनानास आदि मे फाइबर होते हैं, फाइबर युक्त खाना, किसी भी दिल-स्वस्थ आहार का एक महत्वपूर्ण तत्व है। फाइबर में उच्च आहार खाने से Low-density Lipoprotein(LDL) कोलेस्ट्रॉल को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार करता है.
इसलिए अपने हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ  को अपने भोजन में जरूर शामिल करें .

 ज्यादा वसा युक्त पदार्थ खाने से परहेज करें:

बाजार में मिलने वाले अधिकतर खाने की चीजे जैसे बर्गर पिज़्ज़ा, समोसे आदि हार्ट के लिए बहुत नुक्सान पहुंचाते है इसलिए इनका उपभोग कम से कम करना चाहिएऔर घर में बने खाद्य पदार्थो को ही खाना ज्यादा फायदेमंद होता है, ज्यादा वसा युक्त खाद्य पदार्थी को खाने से परहेज करना चाहिए क्युकि ये सब हार्ट के लिए नुकसानदायक हैं, भोजन में पौष्टिक तत्व, हरी सब्जियां इत्यादि का उपयोग बढ़ा देना चाहिए.

सिगरेट और शराब का सेवन ना  करें:

शराब पीने के समय, हृदय गति और रक्तचाप में अस्थायी वृद्धि हो सकती है, बहुत ज्यादा शराब  पीने से दिल की धड़कन बढ़ सकती है, उच्च रक्तचाप को बढ़ा देना , दिल की मांसपेशियों का कमजोर कर देना और दिल की धड़कन को कम कर सकती है, ये सभी कारण दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा सकते हैं.

छोटे बच्चों की इम्यूनिटी को कैसे बढ़ाये, रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ाने के उपाय

तनाव से दूर रहें:

बोलने में तो आसान है की तनाव से दूर रहना चाहिए जब कि ऐसा हो नहीं पाता, हम सभी को किसी न किसी चीज को लेकर तनाव (टेंशन) होता रहता है पर यही तनाव लम्बे समय के लिए हो तो आप बहुत सारी  बीमारियों को आमंत्रित कर रहे हो और इसमें से एक बीमारी हार्ट कि हो सकती है क्युकी तनाव अधिक होने पर शराब सिगरेट आदि का सेवन ज्यादा होने लगता है जिससे हार्ट कि प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए तनाव से बहुत दूर रहना चाहिए.

योगा, प्राणायाम, एक्सरसाइज:

टहलना (Walking) - टहलने से आप हमेशा फिट रहते हैं इसलिए  लोग वाक  करें इससे खून का प्रवाह में तेजी आती है और हार्ट हैल्थी रहता है, इसलिए हार्ट के पेशेंट को टहलने कि सलाह दी जाती है.

स्ट्रेचिंग (Stretching) - स्टेचिंग करने से मांस पेंशियों में खून का प्रवाह बना रहता है इसलिए हार्ट पेशेंट को स्ट्रैचिंग करना चाहिए.

आप अपने दिल को स्वस्थ और फिट रखने के लिए नीचे दिए गए योग को  कर सकते हैं:

तड़ासन - 

Mountain Pose
ताड़ासन





त्रिकोणासन
त्रिकोणासन

Surya Namaskar Yoga
सूर्य नमस्कार


सेतुबंधासन
सेतुबंधासन
सेतुबंधासन
Share:

Healthy Heart Tips, Healthy Heart Diet, Yoga & Exercise for Healthy Heart

Now days everyone is troubled by some diseases in which heart problem is a major disease, the main reason for this is wrong eating habits, consumption of alcohol, cigarettes, etc., eating more fatty foods, no physical activity. There can be many reasons for doing, taking more tension, so today we will discuss it in detail and know what to do and what not to do to keep the heart healthy and strong.
Heart Image
Heart

Eat fiber-rich Food:

beans, lentils, tomatoes, carrots, broccoli, beetroot, bananas, oatmeal, beans, apples, lemons, pears, pineapples, etc. contain fiber, food that is fiber, an important element of any heart-healthy diet is. Eating a diet high in fiber low-density Lipoprotein (LDL) improves cholesterol levels by lowering cholesterol. So to keep your heart healthy, include fiber-rich foods in your diet.

Avoid eating high-fat Foods:

Most of the food items found in the market such as burgers, pizza, samosas, etc. are very harmful for the heart, so they should be consumed less and it is more beneficial to eat homemade foods, eating more fat foods. Should be avoided as all these are harmful for the heart, the use of nutritious elements, green vegetables, etc. in the food should be increased.

Do not consume Cigarettes and Alcohol:

At the time of drinking, there may be a temporary increase in heart rate and blood pressure, drinking too much alcohol can increase the heartbeat, raise high blood pressure, weaken the heart muscle and reduce the heartbeat , All these reasons can increase the risk of heart attack.

Stay away from Stress:

It is easy to say that you should stay away from stress when it does not happen, we all have tension about something or the other, but if this stress is for a long time, then you invite many diseases And one of these diseases can be heart problem due to high stress, when we are in stress then consume more alcohol cigarettes etc., which can cause heart problems, so stay away from stress.

Yoga, Paranayam and Exercise for Heart:

Walking - You are always fit by running or walking, so heart patient  should walk daily around 20-30 minutes , this accelerates the flow of blood and keeps the heart healthy, So doctor recommend running and walking to heart patient.

Stretching - Stretching keeps the blood flow in the muscles, so the heart patient should be stretching.


You can do below mention Yoga to keep your Heart Healthy and Fit.

Mountain Pose 


Mountain Pose
Mountain Pose

Warrior Pose 
Warrior Pose
Warrior Pose

Bridge Pose 

Bridge Pose
Bridge Pose


Trikonasan
Trikonasan

Surya Namskar 
Surya Namaskar



Share:

Benefits of Gooseberry, Eat Gooseberry and Be Healthy

Today we are going to talk about the benefits of Gooseberry, there is hardly anyone in India who has eaten the gooseberry in some form or the other, some have made pickles, some have jam, some have churned and some have had juice.
Eating Gooseberry (Amla) is beneficial in every way, but today we will talk about what kind of diseases we can avoid by eating it and keep ourselves healthy.
Gooseberry
Gooseberry

Gooseberry (Amla) is rich in vitamin C, carbohydrate, potassium, magnesium, calcium, iron fiber. Use of Gooseberry (Amla) is very beneficial in heart disease, stomach disease, diabetes, hair fall, eye, high blood pressure, increase immunity, etc. Therefore, it is considered as a nectar in Ayurveda.

Improve digestion, relieves constipation

Gooseberry (Amla) removes vitamin C deficiency in our body. It keeps our digestive system from deteriorating due to continuous consumption of Gooseberry (Amla), grind the gooseberry and add a little bit of rock salt according to its taste and eat it with water before dinner and have dinner immediately, It will relieve you from many stomach related problems, your digestive system will be strong as well as gas constipation etc.
Healthy Liver
Healthy Liver

Keep the heart healthy

One teaspoon of Gooseberry powder and half teaspoon of sugar, mixed the both and take it two time daily, it keeps the heart healthy.
Heart patients get benefit by consuming at least three gooseberries in a day.
Healthy Heart
Healthy Heart

Control diabetes

Taking 2-2 teaspoon juice of gooseberry and berries twice a day, it provides relief.
Mixing one pinch of turmeric powder with a one spoon gooseberry powder and eating it twice a day, it is also very beneficial for diabetic patients
You will definitely benefit by eating it continuously for a few days.
Diabetes Test
Diabetes Test

Increases immunity power

Eating Gooseberry (amla) increases immunity, which keeps us away from diseases, it has the strength to fight bacteria and fungle infection, it ejects toxins that are present in the body.
Strong Immunity

Beneficial for hair

To nourish the hair and get rid of dandruff, soak the dried gooseberry in an iron pan overnight, In the morning grind it well by hand and make a paste, add the juice of one lemon to this paste and apply it on the hair and after half an hour wash it with water, do it for about a month, it will be very beneficial.
Healthy Hair
Healthy Hair

Share:

आंवले के फायदे, आंवला चूर्ण के फायदे, आंवले का सेवन करे और स्वस्थ रहे, Benefits of Gooseberry

आज हम आंवले के फायदे के बारे में बात करने जा रहे हैं, भारत में शायद ही ऐसा कोई हो जो आंवले को किसी न किसी रूप में खाया हो, किसी ने अचार बनाकर, किसी ने मुरब्बा, किसी ने चूरन तो किसी किसी ने जूस.

Amla green fruits
आंवला


आंवले को खाना हर तरह से फायदे मंद होता है लेकिन आज हम बात करेंगे की इसको खाने से हम किस किस तरह के रोगो परेशानिओ से बच कर अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं . 
आंवले विटामिन C, कार्बोहायड्रेट, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन फाइबर युक्त होता है.
आंवले के प्रयोग से दिल की बीमारी, पेट की बीमारी, मधुमेह, बाल का गिरना, आँख की रोशनी, हाई ब्लड प्रेशर, इम्यूनिटी बढाने में आदि मे बहुत फायदेमंद होता है इसलिए आयुर्वेद मे इसे अमृत के समान माना गया है. 

आंवला
आंवला


Digestion improve करके गैस,कब्ज से छुटाकरा:

आंवला हमारे शरीर में विटामिन सी की कमी को दूर करता है. आवले का लगातार सेवन करते रहने से यह हमारे पाचन तन्त्र को ख़राब होने से बचाता है, आंवले को पीस करके उसमे थोड़ा सा स्वाद के अनुसार सेंधा नमक मिला ले और रात मे खाना खाने के पहले पानी के साथ इसे खा ले और उसके तुरंत बाद खाना खाये इससे आपको पेट से जुड़ी बहुत सारी समस्याओं से छुटकारा मिलेगा आपका पाचन तंत्र मजबूत होगा साथ ही गैस कब्ज आदि समस्याओं से भी छुटाकरा मिलेगा. 
रात को सोते समय एक चम्मच आंवले का चूर्ण पानी के साथ लेने से या शहद के साथ चाटने से कब्ज में फायदा होता है.
लिवर
लिवर

डेंगू बुखार का प्रभावी आयुर्वेदिक इलाज

इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाये

बूस्ट इम्युनिटी
बूस्ट इम्युनिटी

आवला खाने से इम्‍यूनिटी बढ़ती है, जिससे हम बीमरियों से दूर रहते हैं, इसमे बैक्टीरिया और fungle infection से लड़ने की ताकत होती है, यह शरीर में मौजूद टॉक्‍सिन यानी कि जहरीले पदार्थों को बाहर निकाल देता है.

दिल को स्वस्थ रखे:

आवले के एक चम्मच चूरन मे आधा चम्मच मिस्री मिलाकर डेली खाने से दिल स्वस्थ रहता है. 
दिल के मरीजों को दिन में कम-से-कम तीन आंवलों का सेवन करने से लाभ मिलता है.
स्वस्थ दिल
स्वस्थ दिल

हार्ट को हेल्थी कैसे बनायें, हार्ट को स्ट्रांग बनायेंहार्ट को स्ट्रांग बनायें

बाल के लिए फायदेमंद:

बालों के पोषण के लिए और डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए सूखे आंवले को लोहे की कढ़ाई में रात भर भिगो दें, सुबह हाथ से अच्छी तरह पीस कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में एक नींबू का रस मिला कर बालों में लगाएं और आधे घंटे बाद पानी से धुल ले, इसे लगभग एक महीने तक करे इससे काफी लाभ होगा.
हैल्थी हेयर
हैल्थी हेयर

Diabetes कंट्रोल करे:

Diabetes वाले patient आंवले और जामुन का 2-2 चम्मच रस दिन में दो बार लेने से आराम मिलता है.  
एक चम्मच आंवले के चूर्ण के साथ चुटकी भर हल्दी मिला कर सुबह-शाम भोजन से पहले खाना फायदेमंद है
दोनों मे से कोई एक प्रयोग लगतार कुछ दिन तक करे आपको लाभ होगा. 
मधुमेह

Share:

हल्दी के फायदे - हल्दी का उपयोग करे और स्वस्थ रहे, Turmeric Benifit

हल्दी में प्रोटीन,कार्बोहाईड्रेट, विटामिन ए और मिनरल्स पाए जाते है और साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट,एंटी-फंगल और एंटीसेप्टिक तत्वों वाले कई सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिसकी वजह से हल्दी का उपयोग हमें बीमारियों से बचाती है और सेहतमंद बनाए रखने में मदद करती है.  


हल्दी और दूध का उपयोग इम्यून सिस्टम मजबूत करने में :
हल्दी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनता है, हल्दी के सेवन से सर्दी खांसी आदि का खतरा कम हो जाता है क्युकी  हल्दी में Lipopolysaccharide  एलिमेंट होता है जो इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाता है साथ ही इसमें anti fungal और antibacterial एजेंट इम्यून सिस्टम मजबूत करने में सहायक होते है, 
सोने के पहले एक गिलास गुनगुने दूध में एक चम्मच हल्दी डालकर पीना चाहिए.

हल्दी का उपयोग घाव भरने में:
ये तो लगभग सभी को पता होगा की चोट या घाव लगने पर अधिकतर लोग हल्दी को लगाते है क्युकी हल्दी में एंटीसेप्टिक एंटीबैक्टीरियल एलिमेंट्स होते है जो प्रभावित स्किन की मरम्मत तेजी से करती है इसलिए हलकी चोट लग जाये तो तुरंत हल्दी का प्रयोग करें.

हल्दी का उपयोग वजन कम करने में: 
हल्दी का उपयोग वजन कम करने में भी किया जाता है यदि आप हल्दी का उपयोग करके अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आप अपने भोजन में एक चम्मच हल्दी को ले इससे आपका वजन कम होने लगेगा.

हल्दी के द्वारा लिवर को स्वस्थ रखे: 
हल्दी में  antioxidant गुण होता है जिससे लिवर स्वस्थ रहता है, कुछ स्टडी के अनुसार, हल्दी हेपेटाइटिस B और C  वायरस को बढ़ने से रोकता है क्युकी हल्दी में antiviral agents होते हैं, हल्दी को इस्तेमाल करने का सबसे आसान और अच्छा उपाय है कि इसे खाना बनाते वक्त मसालों के साथ मिलाकर खाएं या दूध में आधा या एक चम्मच हल्दी मिलाकर रोज पीना चाहिए.

हल्दी के द्वारा डायबिटीज का कंट्रोल:
Biophysical और Biochemistry  रिसर्च की स्‍टडी के अनुसार हल्‍दी के नियमित सेवन से ग्‍लूकोज का लेवल कम हो जाता है और Type - 2 डायबिटीज का खतरा टल सकता है.
यदि आप पहले से कोई एलोपैथिक मेडिसिन को ले रहे रहे है तो हल्दी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से अवस्य कंसल्ट करें.
Share:

Use turmeric and be healthy - Benefits of turmeric

Use of turmeric and milk to strengthen the immune system
Turmeric strengthens the immune system, intake of turmeric reduces the risk of cold cough etc. as turmeric contains Lipopolysaccharide element which strengthens the immune system as well as anti fungal, antiviral and antibacterial agents that help strengthen the immune system. Are,
One spoon of turmeric should be drunk in a glass of lukewarm milk before bedtime.

Use of turmeric to reduce weight
Turmeric is also used to reduce weight. If you want to lose weight by using turmeric, then you take a spoonful of turmeric in your food, this will reduce your weight.



Use of turmeric to heal wounds
Almost everyone will know that most people apply turmeric on injury or wounding because turmeric contains antiseptic antibacterial elements which repair the affected skin quickly, so if light injury occurs, use turmeric immediately.

Keep liver healthy with turmeric
Turmeric has antioxidant properties that keep the liver healthy, according to some studies, turmeric prevents hepatitis B and C viruses from growing because turmeric has antiviral agents, the easiest and best way to use turmeric is to eat it. Eat it mixed with spices while cooking or mix half or one spoon of turmeric in milk and drink it daily.

Control of diabetes by turmeric
According to the study of Biophysical and Biochemistry Research, regular intake of turmeric reduces the level of glucose and may avert the risk of type-2 diabetes.If you are already taking any allopathic medicine, consult a doctor before consuming turmeric.

Share:

गर्मी के सीजन में डेली खाने पीने की चीजो से अपनी इम्यूनिटी बढ़ाऐ, Basil Leafs Benefits

कोरोना वायरस का प्रकोप से पूरी दुनिया के लोग बहुत ही ज्यादा परेशान है और अब हम लोग भी बहुत तेजी से संक्रमित होते जा रहे है, कोरोना से पॉजिटिव लोग बहुत तेजी से बढ़ रहे है  इसलिए गवर्नमेंट द्वारा जारी की गयी एडवाइजरी का पालन करे, भीड़ में जाने से बचे, मास्क हमेशा पहने, बाहर कम  से कम  निकले, बाहर की चीजें खाने से बचे, जो भी सामान बाहर से लाए उसे अच्छी तरह से धुल कर रखें हो सके तो बाहर  के सामान को १४ घंटे बाद प्रयोग में लें, बार बार हाथ को साबुन से धुलते रहें, घर के बाहर हो तो sanitizer🧴🤲 का उपयोग करें
कोरोना वायरस की वजह से आज सब लोग अपनी इम्यूनिटी बढाने के अनेक तरीके अपना रहे है और अच्छा भी है क्युकी अगर आप की इम्यूनिटी स्ट्रांग है तो आप अनेक बीमारियो से बच सकते हैं. 
सभी को पता है कि कोरोना का कोई ईलाज नही है इसलिए सब लोग अपने इम्यूनिटी सिस्टम को boost करने के लिए अलग अलग तरीके का use कर रहे हैं. 
तो आज हम जानेंगे कि अपनी daily Deight मे क्या ले जिससे कि इम्यूनिटी सिस्टम स्ट्रांग हो और हम सब लोग कोरोना से बच सकें. 


फल (Fruits
फल का सेवन जादा करे आप चीकू,orange, पपीता, संतरे, अमरूद, strawberry🍓, kiwifruit etc. 
ये सब फल विटामिन c के बहुत बड़े source है इसलिए इसे अपनी daily diet में ले. 


नींबू पानी
नींबू पानी के फायदे के बारे मे तो सब जानते है कि नींबू में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है. इसके कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिलती है. रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है यह सबसे आसान और सस्ती इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक है.


शलाद
खाने के साथ शलाद को भरपूर मात्रा मे सेवन करें जैसे खीरा, ककड़ी, 🍅tomato आदि. 


हल्दी (Turmeric) 
हल्दी को सबसे सेहतमंद मसाला माना जाता है. हल्दी में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं. हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन मांसपेशियों की रक्षा करती है और उसे मजबूत बनाती है.


अदरक Ginger
अदरक में कई तरह के एंटी वायरल तत्व पाए जाते हैं इसलिए अपने खाने-पीने की चीजों में इसे जरूर शामिल करें. अदरक तुलसी काली मिर्च लौंग का काढा बनाकर पीने से भी लाभ होता है, 
शहद के साथ भी इसका सेवन करना चाहिए, 
दिन में 2-3 बार अदरक का सेवन करना चाहिए इससे आपका इम्यून सिस्टम अच्छा रहेगा.


तुलसी Basil
इम्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए तुलसी बहुत गुणकारी है. रोजाना सुबह ५-६ तुलसी के पत्तों को चबाकर खाना चाहिए,
3-4 काली मिर्च और एक चम्मच शहद के साथ इसका सेवन करने से आपके शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है और इम्यूनिटी बढ़ती है. 

Share:

Home remedies for injury, sprain, swelling

Home remedies for injury, sprain, swelling


It has often been seen that if someone gets hurt, he does not pay attention until he feels pain but no one should ignore it, some people eat pen killer when there is pain but pen killer can not  be permanent solution because if there is no proper treatment for the bone injury, then the pain of this injury starts again after some time and it will always be painful, so it is very important to treat it on priority. 



1-Heat (Therapy)
Heat therapy is a remedy that every person must do in injury sprain, it does not allow the clotting of the blood at the place of injury and repairs the damage to the muscles, so do heat therapy 10-15 minutes three times a day with cloth Or other heat therapy method for 4-5 days, this will give you 100℅ benefits.

Method of heat therapy- Burn a fire ( room heater or gas) and take a cloth of cotton, allow the cloth to light heat after heating the clothe put it on affected injured body part and heat the same, when the cloth cools down again Heat it again and let it heat again and do the same process for 10-15 minutes.

You can also use any other heat therapy.

2-By turmeric & limestone paste

Take two spoons turmeric and limestone (limestone must be equal to the 1 peas)take it in a bowl, add a little water and mix it with the help of a spoon and make it like a paste and make the paste a little lukewarm on the fire and Apply the paste on the place of injured body parts. 
If the injury is less then apply for 5 days and if the injury is sprained, apply it for 8-10 days.


Now-a-days anyone likes to eat the pill immediately if anything happens but they do not know about the harm of allopathic medicine, so people easily consume allopathic medicine for fast relief.
It my suggestion to everyone l take allopathic medicine in only critical cases. 

Share:

How to improve digestive system, Ayurvedic medicine for acidity and constipation

Nowadays most of the people are upset with stomach problem, most of the people don't feel hungry, someone have gastric problem and someone have digestive problem. If your stomach is not clean properly in the morning, then you are troubled throughout the day and the problem of not having a clean stomach becomes a big problem and gives birth to many diseases, so everyone should be very concious about your stomach. Should be so that future diseases can be avoided.

Let's know some ways to keep the stomach clean ...


1 - Triphala Churna
Triphala churna is a mix of amla (Indian gooseberry) powder with two other fruits that are bibhitaki known as terminalia bellirica or bahera - and hartaki also known as harad to create Triphala.
Triphala powder is a very useful medicine for the stomach, generally people know Triphala as a preventive constipation. But apart from this, there are many benefits of consuming it. If you have any stomach related problem, then the consumption of Triphala powder will be very beneficial for you. Apart from stomach, eating it gives relief in many diseases. Doctors also advise that some people should not consume Triphala without medical advice.
Triphala powder increases resistance power of the body to fight from disease. 
त्रिफला चूर्ण
त्रिफला चूर्ण

हरीतकी,आंवला,बहेरा
हरीतकी,आंवला,बहेरा


2 - Amla (Gooseberry) 
The powder of amla is also very beneficial for the stomach, by consuming one teaspoon of amla powder with water, the toxic elements of the body come out, which keeps the stomach healthy.
आंवला

4 - Include fiber-rich foods such as sprouted gram etc. in your food.


5 - Wake up in the morning and drink 2 glass water on an empty stomach. 


6 - Pizza Burger Chole Bhature etc. are not good for body so avoid it. 


7 - Do Yoga, pranayam and exercise daily atleast 1/2 an hour. 






Share:

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

About

Awareness and Solution for common problems, Benefits of Yoga and Pranayam.

Categories

लेबल

Theme Support