Awareness and Solution for common problems, Benefits of Yoga and Pranayam.

How to remove dark circles under eyes

 Remedy to remove dark circles of Eyes

People waste their money in a lot of medicines, creams, etc. to remove the dark circles of the eyes, but this does not have any special effect on the dark circle, so today we will talk about some remedies which will help to remove the dark circle with little or no expense.

Dark Circle under eye

Cause of dark circles

In today's life, we do not pay attention to routine, we do not do any work according to the rules and we do not have the right way of living nor the right food, due to which our body is not getting proper nutrition. 

The main causes of dark circles are as follows

  1. Computer or mobile use
  2. Lack of proper routine
  3. Tension tension
  4. Not taking proper diet
  5. Genetic
  6. Not getting enough sleep
  7. Fatigue
  8. Iron deficiency
  9. Excess alcohol or smoking
  10. Unbalanced hormones

Due to the reasons given above, there are dark circles, so if we escape from all these reasons then we will also avoid black circles.

Remedy to remove dark Eye circles

1 - Almond oil -  Almond oil contains Vitamin-E which reduces dark circles of the eyes. Apply it on dark circles before sleeping at night and clear your face in the morning, this will benefit you.

2 - Coconut Oil - Before going to bed, massage coconut eyes lightly in your hands before sleeping. Use it for a few days, it will also benefit you.

3 - Tomato Juice -  Tomato juice is the best way to remove dark circles, tomato juice naturally eliminates dark circles, Mix a few drops of lemon juice in tomato juice and rub it on the dark circles, it will help you as soon as possible.

Tomato

4 - Remove the dark circles from Aloe-Vera - Aloe-Vera is known by many other names. Most people will find it in their home because it is used extensively, it is used to remove many diseases, it is also used to remove dark circles, apply aloe-Vera gel on dark circles and massage slowly with the finger, do it before bedtime so that it has its effect throughout the night, use it for a few days will definitely benefit.

Aloe-Vera

5 - Orange peel - Dry the orange peel in sunlight and make a powder, add some rose water in orange peel powder and make a paste, apply it on a dark circle, you will definitely see the difference in few days.

Share:

आँखों के काले घेरे दूर करने के उपाय (Dark circle)

आँखों के काले घेरे दूर करने के उपाय (Dark circle)

आँखों के काले घेरे (Dark circle) दूर करने के लिए लोग बहुत सारी  दवाइयां, क्रीम आदि में अपना पैसा बर्बाद करते हैं  पर इसका कोई ख़ास असर dark circle पर नहीं होता है, इसलिए आज हम कुछ ऐसी रेमेडीज के बारे में बात करेंगे जो कम से कम या बिना किसी खर्च के काले घेरे Dark circle को हटाने में मदद करेंगे.

Dark circle before& after
Dark circle before and After

आजकल की जिंदगी में  हम लोग दिनचर्या पर ध्यान नहीं देते, कोई भी काम हम नियमानुसार नहीं और ना सही रहन-सहन है ना सही खान-पान जिसके कारण हमारे शरीर को उचित पोषण नहीं मिल पाता है,अब तो लोग मोबाइल के कारण अपनी पूरी नींद भी नही ले पाते जिसके कारण ऐसे काले घेरे का सामना करना पड़ता है. 

काले घेरे होने का कारण 

  1. कंप्यूटर, मोबाइल का ज्यादा उपयोग
  2. सही दिनचर्या न होना 
  3. तनाव Tension 
  4. उचित आहार का न लेना 
  5. अनुवांशिक 
  6. पर्याप्त नींद न लेना
  7. थकान
  8. आयरन की कमी
  9. शराब या स्मोकिंग अधिक करना
  10. असंतुलित हार्मोन

उपरोक्त दिए गए कारणों से काले  घेरे होते हैं इसलिए अगर हम लोग इनसब कारणों  से बच जाएं  तो काले  घेरे से भी बच जाएँगे.

आंखों के काले घेरे को दूर करने के उपाय

1 - टमाटर - टमाटर का रस काले घेरे को दूर करने के लिए सबसे अच्छा उपाय है, टमाटर का रस नेचुरल तरीके के साथ आँखों के काले घेरे को खत्म करता है. टमाटर के रस में कुछ नींबू बूंदे मिलाकर काले घेरे पर मालिस करें इससे आपको जल्द से जल्द लाभ मिलेगा.

2 - बादाम का तेल -  आँख के काले घेरे को कम करने के लिए बादाम के तेल का उपयोग किया जाता है, बादाम के तेल में  विटामिन-E होता है जो आँखों के काले घेरे को कम करता है रोज रात को सोने से पहले इसे काले घेरे पर लगाएं और सुबह अपने चहरे को साफ़ कर लें, इससे आपको लाभ होगा.

3 - नारियल का तेल - रात को सोने से पहले अपने हाथों में नारियल तेल लेकर हल्के से आँखों के नीचें मालिश करें, कुछ दिन तक इसका प्रयोग करे, इससे भी आपको लाभ होगा.

4 - घृतकुमारी Aloe Vera - एलो वेरा को अन्य कई नामो  से जाना जाता है घृतकुमारी,ग्वारपाठा,करगंदल, ज्यादातर लोगों  के घर में यह मिल जाएगा क्युकि इसका उपयोग बहुत ब्यापक रूप में होता है, इसका  बहुत सारी बीमारियां दूर करने के लिए किया जाता है, इसी तऱह काले घेरे को हटाने में भी इसका उपयोग होता है, एलोवेरा जेल को काले घेरे पर लगाए और ऊँगली से धीरे धीरे मसाज करें, सोने से पहले इसे करें जिससे यह रात  भर इसका असर रहे, कुछ दिन तक इसका प्रयोग करें जरूर लाभ होगा.

Aloe Vera
 

5 - संतरे के छिलका - संतरे के छिलके को धुप में सुखाकर उसका पाऊडर बना लें, थोड़ा पाउडर लेकर उसमे कुछ गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बना कर काले घेरे पर लगाएं, कुछ दिन तक इसे लगाते रहे आपको फर्क जरूर दिखेगा.

Share:

Right way to drink water, Drink water properly and stay healthy

We all know how much water matters in our lives. Without water, all of us lives are not possible, we all drink water but there will be many people who drink water wrongly, so today we will know When, how, how much and how much water should be drunk.

We should drink 8-10 Glass  of water in a day.

How to drink water
Right way to drink Water

  1. First you should sit and then after drink the water.
  2. Water should always be drunk slowly and sip.
  3. Always drink lukewarm or normal temperature water, do not drink cold water from fridge.

Drink two glasses of water after waking up in the morning, the water kept in a copper vessel is more beneficial for the stomach, drinking water in the morning removes toxins from the body and cleanses the body properly, also relieves in constipation.

Benefits of drinking copper pot water

  1. Water kept in a copper vessel - Protects you from disease-causing bacteria and helps to keep you completely healthy.
It keeps the liver and kidney healthy and the water kept in a copper vessel is beneficial in dealing with many type of infection.
  1. Makes the heart healthy, which keeps blood pressure under control and reduces bad cholesterol. Apart from this, it also reduces the risk of heart attack.
  2. It helps to overcome complaints of Vata, Pitta and Kapha.
  3. Copper water is very beneficial in all types of stomach problems, water stored in a daily copper vessel can relieve problems like gas, acidity, constipation.

What is the right time to drink water while Eating

  1. Always do not drink water immediately before eating as it weakens the digestive system and causes problems in digestion of food, so there should be a gap of at least one to one and a half hours between drinking water and eating food.
  2. Never drink water even after the phase of eating, because drinking water immediately has an effect on the fire of digesting food due to which the food does not get five properly and causes problems of acidity, constipation, gas etc., so immediately after the meal 2- Drink 3 sips of water and after an hour you can drink water after filling your stomach.

Disadvantages of standing and drinking water

  1. Drinking water while standing can cause diseases of liver, bladder etc.
  2. Thirst does not calm down completely by drinking water while standing, so sit comfortably and drink sip water
  3. The body does not get all the nutrients by drinking water while standing.
    Wrong drinking water Habit

Share:

पानी पीने का सही तरीका, सही तरीके से पानी पियें और स्वस्थ रहें

हम सब लोग जानते हैं  कि पानी हमारे जीवन में कितना महत्व रखता है बिना पानी के हम सब का जीवन संभव ही नहीं है, हम सभी लोग पानी पीते है पर ऐसे बहुत लोग होंगे जो पानी गलत तरीके से पीते होंगे, तो आज हम ये जानेंगे की पानी कब, कैसे, कितना और कैसा पानी पीना चाहिए.

दिन में 8-10 ग्लास पानी पीना चाहिए.

पानी पीने का तरीका

पानी पीने का सही तरीका
पानी पीने का सही तरीका

  1. पानी हमेशा बैठ कर पीना चाहिए
  2. पानी हमेशा धीरे धीरे और  घूंट घूंट पीना चाहिए
  3. गिलास या बोतल हमेशा मुँह में लगाकर पानी पिए 
  4. हमेशा हल्का गर्म या नार्मल टेम्परेचर का पानी पिए फ्रिज का ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए

सुबह उठने के बाद दो गिलास पानी पिए, तांबे के बर्तन में रक्खा हुआ पानी पेट के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है,सुबह पानी पिने से शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं और शरीर की अच्छी तरह से सफाई जाती है, कब्‍ज में भी राहत मिलती है.

तांबे  के बर्तन का पानी पीने  के फायदे 

  1. तांबे के बर्तन में रक्खा हुआ पानी- बीमारी पैदा करने वाले जीवाणुओं से आपकी रक्षा कर आपको पूरी तरह से स्वस्थ बनाए रखने में सहायक होता है.
  2. यह लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है और किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से निपटने में तांबे के बर्तन में रखा पानी लाभप्रद होता है.
  3. दिल को स्वस्थ बनाता है जिससे ब्लड प्रेशर नियंत्रित में रहता है और बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है.
  4. यह वात, पित्त और कफ की शिकायत को दूर करने में मदद करता है.
  5. पेट की सभी प्रकार की समस्याओं में तांबे का पानी बहुत फायदेमंद होता है, डेली तांबे के बर्तन में रक्खा हुआ पानी से गैस, एसिडिटी, कब्ज जैसी परेशानियों से मुक्ति  मिल सकती है.  

खाने के वक्त पानी पीने का सही समय

  1. हमेशा खाने से तुरंत पहले पानी न पिये क्युकी इससे पाचन तंत्र कमजोर होता है और भोजन पचने में समस्या होती है इसलिए पानी पीने और खाना खाने के बीच कम से कम एक से डेढ़ घंटे का अंतर होना चाहिए..
  2. खाने के चरण बाद भी कभी पानी नहीं पीना चाहिए क्युकी तुरंत पानी पीने से भोजन पचाने की अग्नि पर प्रभाव पड़ता है जिससे भोजन ठीक से नहीं पांच पाता और एसिडिटी, कब्ज, गैस आदि समस्याएं पैदा हो जाती हैं, इसलिए भोजन के तुरंत बाद २-३ घूँट पानी पिए और एक घंटे बाद पेट भर कर पानी पी सकते हैं

खड़े होकर पानी पीने के नुकसान 

  1. खड़े होकर पानी पीने से लिवर, मूत्राशय आदि की बीमारियां हो सकती है. 
  2. खड़े होकर पानी पीने से प्यास पूरी तरह से शांत नहीं हो पति इसलिए आराम से बैठ कर घूँट घूँट पानी पियें.
  3. खड़े होकर पानी पीने से शरीर को सारे पोषक तत्त्व नहीं मिल पाते.

Bad drinking water habit
Bad drinking water habit

Share:

Simple and natural Health Tips, Healthy Life Style

Everybody wants to never have any disease and always be disease free because any disease causes your money, health, happiness, peace to end, so we all have our daily routine, food and drink as per rules, there will be many people among us who do not know that all of us have such common diseases due to our wrong habit, therefore we should all do all the work according to the rules given in Ayurveda So that you can stay away from diseases and always be healthy.


  1. You should wake up before sunrise in the morning, it will make you feel refreshed throughout the day and it will also have a good effect on your health.
  2. Drink water kept in a copper vessel after waking up in the morning, drinking the water of a copper vessel eliminates diseases related to the stomach, not everyone knows the way to drink water, so it is very important to tell the way of drinking water - Drink water always slowly like you drink lukewarm milk.
  3. Do yoga meditation and exercise, your body will be flexible with yoga and exercise, you will be free from many diseases and the immune system will be strong, by meditation you will keep your anger under control.
    Exercise
  4. Never drink tea or coffee on an empty stomach in the morning
  5. Healthy Breakfast - Soaked Almond, Raisin (Kismis), Banana Banana Pomegranate Date Milk contains all the nutritional elements that make your body healthy and energetic.
  6. Never include spicy foods in your breakfast.
  7. Fruits and vegetables are the most important foods for health,it gives us iron vitamins, minerals fibre etc. We should eat seasonable fruits and juice a day, a glass of fresh fruit juice at breakfast and a good portion of different vegetables at each meal.
    Fruits & Vegetable
  8. Have healthy lunch and dinner, lunch should always be done by 10 o'clock so that you can get energy throughout the day, avoid eating fast-food, spicy and fried things, include yogurt and shalad in lunch.
  9. Do not talk while eating
  10. Avoid saying cigarette alcohol, Pan Masala, it can cause fatal diseases like cancer as well as other diseases.
    No smoking
  11. Dinner should be lightened because overeating causes trouble in digestion, water should not be drunk immediately after meals and walk for 10-15 minutes at work.
  12. Should sleep 1 to 2 hours after meal.

By following the above rules correctly, you can avoid many diseases.

Share:

स्वस्थ रहने के उपाय व बीमारियों से बचने के तरीके, Health Tips

सभी लोग चाहते हैं उन्हें  कभी भी कोई बीमारी ना हो और हमेशा रोग मुक्त रहें क्युकी कोई भी बीमारी होने से आपका पैसा,स्वास्थ्य, सुख,चैन सब ख़त्म होने लगता है इसलिए हम सभी को अपनी डेली रूटीन,खाना-पीना और सभी क्रियाएं नियमानुसार करनी चाहिए, हममें बहुत लोग ऐसे होंगे जिन्हे ये नहीं पता कि हम सब को ऐसी बहुत सी कॉमन बीमारियां अपने गलत आदत के कारण  होती हैं इसलिए हम सभी को आयुर्वेद में दिए गए नियम के अनुसार ही सारे कार्य करने चाहिए जिससे कि बीमारियों से बचे रहें और हमेशा स्वस्थ रहें.


  1. सुबह सूर्योदय से पहले उठना चाहिए इससे आप दिन भर तरोताजा महशूस करेंगे और इसका अच्छा असर आपके स्वास्थ  पर भी होगा. 
  2. सुबह उठने के बाद तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पियें, ताबें  के बरतन का पानी पीने  से पेट से जुडी बीमारियां  दूर हो जाती है, पानी पीने का तरीका सब को पता नहीं है इसलिए पानी पिने के तरीके को भी बताना बहुत जरुरी है - पानी हमेशा बैठकर पियें और धीरे धीरे जैसे गुनगुना दूध पीते  हैं.
  3. नित्य क्रिया करने के बाद योग ध्यान और ब्यायाम करें, योग और ब्यायाम से आप का शरीर लचीला बनेगा, अनेकों बीमारियों से  रहेंगे और इम्यून सिस्टम मजबूत होगा, ध्यान से आप अपने क्रोध को नियंत्रण में रखेंगे.
  4. सुबह खाली  पेट चाय या कॉफ़ी कभी भी ना  पियें.



     5. हेल्थी नास्ता करें - भीगे बादाम किसमिस चना केला अनार खजूर दूध इन सब में वो सरे पोषक तत्त्व होते हैं             जो आपके शरीर को हेल्थी ऊर्जावान और मजबूत बनाते हैं.
     6. नास्ते में मसालेदार खड्या पदार्थ कभी भी शामिल ना करें.
     7. हेल्थी लंच और डिनर करें, लंच हमेशा १० बजे तक कर लेना चाहिए जिससे आपको दिन भर ऊर्जा मिलती             रहे, फास्टफूड, मसालेदार और तलीभुनी चीजे खाने से परहेज करें, लंच में दही और शलाद को शामिल करें. 
हरी सब्जियां
हरी सब्जियां


      8.भोजन हमेश बैठकर करें और भोजन करते समय बात नहीं करना चाहिये. 
         सिगरेट शराब पान मसाला कहने से बचें इससे आपको कैंसर जैसी घातक बीमारी के साथ साथ अन्य                     बीमारियां  भी हो सकती हैं. 
No Smoking


     10. रात्रि का भोजन हल्का करना चाहिए क्युकि ज्यादा भोजन करने से पचने में परेशानी होती है, भोजन करने               के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए और काम से काम १०-१५ मिनट तक टहलें. 
     11. भोजन करने के १ से २ घंटे बाद सोना चाहिए.

उपरोक्त दिए गए नियमों  को सही ढंग से पालन करने से आप बहुत सारी बीमारियों से बच सकते हैं

Share:

मुँह के छालो का इलाज, Treatment of mouth ulcers

मुँह में छाला होना हम लोग एक सामान्य समस्या मानते है क्युकी बहुत लोगो को यह समस्या होती रहती है, मुँह में छाले होने पर किसी भी चीज का स्वाद नहीं मिल पाता, जलन होती है, खाने में तकलीफ होती है. ज्यादातर यह समस्या पेट की खराबी के कारण होती है मतलब आपका पाचन तंत्र ठीक से काम नहीं कर रहा है, पेट की गर्मी भी इसका एक कारण है, ज्यादातर लोग छाले होने पर डॉक्टर के पास चले जाते है लेकिन इसका इलाज आप खुद अपने घर में ही कर सकते है क्युकी मै आपको हमेशा यही सलाह देता हु की अंग्रेजी दवाईयों का सेवन करने से जितना हो सके उतना बचें क्युकी ये तुरंत आराम तो देती है पर आपको इसके बदले अनेको नुकसान भी पहुँचाती है और आपके पैसे भी ज्यादा खर्च होते हैं.

Mouth Ulcer
मुँह में छाले

मुँह में छाले होने के कारण 

  1. पाचन तंत्र का खराब होना 
  2. पेट में कब्ज का होना 
  3. अधिक मसालेदार और तले-भुने  भोजन का सेवन करना 
  4. अत्यधिक गरम खाना पीना 
  5. आयरन और विटामिन-B की कमी होना 
  6. मुँह व दांत की ठीक से सफाई न करना 
  7. ऐसे खाद्य पदार्थ को खाना जिससे आपको एलर्जी होती हो 
  8. मुँह और दांत की सफाई ठीक से न करना
  9. इम्युनिटी का कमजोर होना 
  10. आंत का कोई रोग होना

मुँह के छालो से बचाव

  1. अत्यधिक मसालेदार खाद्य पदार्थ खाने से बचें
  2. पेट को स्वस्थ रखें
  3. पेट कब्ज न होने दें
  4. अत्यधिक गरम चीजों को न खाएं
  5. मुँह और दांत की सफाई ठीक से करें
  6. ब्रश रोज करें और दिन में दो बार करें 
  7. अच्छे ब्रश का प्रयोग करें 
  8. विटामिन बी से भरपूर चीजों दही पनीर दूध खाएं  
  9. खाने में सलाद को भी खाएं 

पेट को स्वस्थ रखने का उपाय, पेट को स्वस्थ कैसे रखें, Healthy Liver

मुँह के छालो का इलाज

  1. अमरुद की ३-४ मुलायम पत्ती दिन में दो बार धीरे धीरे चबाये, इसमें आप कत्था भी मिलकर चबा सकते हैं
  2. बबूल की छाल का काढ़ा बनाकर कुल्ला या गरारा करें
  3. जामुन की छाल का काढ़ा बनाकर कुल्ला या गरारा करें
  4. एक गिलास पानी में एक चम्मच धनिया पाउडर उबालें और पानी आधा बचने पर उतारकर ठंडा कर के कुल्ला या गरारा करें
  5. शहद और इलाइची पाउडर को मिलाकर छालों पर लगाएं
  6. तुलसी के ४-५ पत्ते दिन में दो बार चबाकर खाएं
  7. ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी का सेवन कीजिए, इससे पेट साफ होगा और मुंह के छाले नहीं होंगे
Woman Drinking Water



ऊपर दिए गए उपायों को करने के बाद भी अगर छाले ठीक नहीं हो रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर का पास जाये.
Share:

कैंसर क्या है, लक्षण, कैंसर के कारण और बचाव, Cancer prevention better than cure

कैंसर के बारे में कुछ तथ्य

कैंसर क्या है (What is Cancer) 

हमारे शरीर में करोडो कोशिकाएं (Cells) रोज बनती है और नस्ट होती हैं लेकिन जब हमारा बॉडी सिस्टम ख़राब कोशिकाओं या असामान्य कोशिकाओं को नस्ट नहीं कर पाता तो ये ख़राब कोशिकाएं असमान्य रूप से बढ़ने लगती हैं तो उसे कैंसर Cancer कहते हैं.

कैंसर शरीर के किसी भी अंग या ऊतक(Tissue) में शुरू हो सकता है जब असामान्य कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ती हैं, शरीर के आस-पास के हिस्सों पर  या अन्य अंगों में फैल जाती हैं और शरीर के उस भाग को प्रभावित करती है जिससे वह अंग या ऊतक ठीक से काम नहीं कर पाता और धीरे धीरे उस अंग या ऊतक पर उनका कंट्रोल हो जाता है.

अंग या ऊतक कितना प्रभावित हुआ है इसे हम डॉक्टर की भाषा में कहते है की किस स्टेज का कैंसर है, स्टेज-1 स्टेज-2, स्टेज-3 ...

Neoplasm और Malignant कैंसर के अन्य नाम हैं.

विश्व में होने वाली मौतों का दूसरा सबसे बड़ा कारण कैंसर है, 2018 में अनुमानित 9.6 मिलियन लोगों की मृत्यु, या छह में से एक मौत, फेफड़े, प्रोस्टेट, कोलोरेक्टल, पेट और यकृत कैंसर पुरुषों में कैंसर के सबसे आम प्रकार हैं, जबकि स्तन (Breast), Colo-rectal, फेफड़े(Lung), Cervical and  थायरॉयड कैंसर महिलाओं में सबसे आम हैं.

कैंसर के लक्षण

  1. शरीर के किसी भी अंग में सूजन या  गॉंठ (जिसमे दर्द ना हो)
  2. बिना कारण वजन घटना, कमजोरी आना या खून की कमी
  3. शरीर में ऐसा कोई घाव जो ठीक न हो रहा हो
  4. स्‍तनों में गॉंठ होना
  5. मल, मूत्र, उल्‍टी आदि में ब्लड आ रहा हो
  6. आवाज में बदलाव, निगलने में दिक्‍कत
  7. लम्‍बे समय तक लगातार खॉंसी का आना

डेंगू बुखार का प्रभावी आयुर्वेदिक इलाज - Dengue Fever

कैंसर होने के कारण

  1. प्रदूषित पर्यावरण 
  2. इम्यून सिस्टम कमजोर होना  
  3. सिगरेट, बीड़ी, पान मसाला, तम्बाकू का सेवन
  4. असंतुलित और ख़राब भोजन, ज्यादा  तला भुना भोजन, पैक्ड फ़ूड का सेवन
  5. शराब का सेवन
  6. कुछ रसायन और दवाईयों से भी कैंसर होता है 
  7. ज्यादा उम्र के बढ़ने पैर भी कैंसर हो सकता है 

कैंसर से बचाव कैसे करें 

  1. फलों  और सब्जियों का ज्यादा खाएं और साथ में ये जरूर ध्यान में रखे की फल और सब्जियां  सीजन की हो.
  2. शराब, गुटका, पान मसाला, तम्बाकू आदि का सेवन बिलकुल भी न करें क्युकी इससे फेफड़े का कैंसर होने की संभावना बहुत  बढ़ जाती है.
  3. अपने इम्यून सिस्टम को हमेशा मजबूत बना के रखें, इम्यून सिस्टम कभी कमजोर नहीं होना चाहिए क्युकी इम्युनिटी वीक होने से कैंसर ही नहीं और बहुत सी बीमारियों से आप परेशान हो सकते है.
  4. अपने आप को फिट रखें, मोटापा आपके लिए खतरनाक होता है इसलिए खाने पीने का ध्यान रखे ऐसी कोई भी चीज न खाएं जिससे आपका मोटापा बढे और आप कैंसर व अन्य बीमारियों की चपेट में आए.
  5. योगा और ब्यायाम डेली करे इसे अपनी डेली रूटीन में शामिल करें, हम सब को कम  से कम आधे से एक घंटे रोज योगा और ब्यायाम करना बहुत जरुरी है.
  6. कैंसर पेशेंट को धूप से बचना चाहिए क्योंकि सूरज की पराबैगनी किरणें स्किन कैंसर के खतरे को बढ़ा सकती हैं.

इम्यूनिटी को बढ़ाऐ और रोगों से छुटकारा पाए

  1. अनुलोम विलोम
    अनुलोम विलोम


कपालभाती
कपालभाती

गठिया रोग का इलाज घरेलु विधि द्वारा, Arthritis Treatment


हम सभी को समय समय पर अपना सम्पूर्ण हेल्थ चेक-अप करवाते रहना चाहिए इससे आपको किसी बीमारी का पता शुरूआती स्टेज में लग जाएगा और आप उसके अनुसार अपना इलाज शुरू कर देंगे क्युकी कैंसर के केस में यह बहुत जरुरी हो जाता है की आपका कैंसर किस स्टेज में है , अगर आपका कैंसर फर्स्ट स्टेज में है तो आपके ठीक होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है और आप कम खर्चे में पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे, लेकिन अगर आपको कैंसर का पता देर से लगता है तो आपके कितने पैसे खर्च हो जायेंगे ये कोई नहीं बता सकता और ठीक होंगे या नहीं इसकी भी कोई गारंटी नहीं होती इसलिए समय समय पर  चेक-अप जरूर कराएं और डॉक्टर से सलाह लेते रहें.
अपनी दिनचर्या ठीक रखें - समय पर सोएं और समय पर उठे रोज योगा और ब्यायाम जरूर करें, अच्छा खाना खाएं, शराब आदि का सेवन न करें.


Share:

हार्ट को हेल्थी कैसे बनायें, हार्ट को स्ट्रांग बनायें , Yoga & Exercise for Healthy Heart

आज कल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई किसी न किसी बीमारी से परेशान है जिसमे हार्ट की समस्या एक प्रमुख बीमारी है, इसका मुख्य कारण खाने पीने की गलत आदत, शराब, सिगरेट आदि का सेवन, ज्यादा वसायुक्त खाना, कोई फिजिकल एक्टिविटी न करना, ज्यादा टेंशन लेना आदि बहुत सारे कारण हो सकते तो आज हम विस्तार में इस पर चर्चा करेंग और जानेंगे कि हार्ट को स्वस्थ और स्ट्रांग रखने में क्या क्या करें और क्या क्या ना करें.

Heart
Heart

फाइबर युक्त खाना खाएं:

राजमा, दाल, टमाटर, गाजर, ब्रॉकली, चुकंदर, केला, दलिया, सेम, सेब, नींबू, नाशपाती, अनानास आदि मे फाइबर होते हैं, फाइबर युक्त खाना, किसी भी दिल-स्वस्थ आहार का एक महत्वपूर्ण तत्व है। फाइबर में उच्च आहार खाने से Low-density Lipoprotein(LDL) कोलेस्ट्रॉल को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार करता है.
इसलिए अपने हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ  को अपने भोजन में जरूर शामिल करें .

 ज्यादा वसा युक्त पदार्थ खाने से परहेज करें:

बाजार में मिलने वाले अधिकतर खाने की चीजे जैसे बर्गर पिज़्ज़ा, समोसे आदि हार्ट के लिए बहुत नुक्सान पहुंचाते है इसलिए इनका उपभोग कम से कम करना चाहिएऔर घर में बने खाद्य पदार्थो को ही खाना ज्यादा फायदेमंद होता है, ज्यादा वसा युक्त खाद्य पदार्थी को खाने से परहेज करना चाहिए क्युकि ये सब हार्ट के लिए नुकसानदायक हैं, भोजन में पौष्टिक तत्व, हरी सब्जियां इत्यादि का उपयोग बढ़ा देना चाहिए.

सिगरेट और शराब का सेवन ना  करें:

शराब पीने के समय, हृदय गति और रक्तचाप में अस्थायी वृद्धि हो सकती है, बहुत ज्यादा शराब  पीने से दिल की धड़कन बढ़ सकती है, उच्च रक्तचाप को बढ़ा देना , दिल की मांसपेशियों का कमजोर कर देना और दिल की धड़कन को कम कर सकती है, ये सभी कारण दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा सकते हैं.

छोटे बच्चों की इम्यूनिटी को कैसे बढ़ाये, रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ाने के उपाय

तनाव से दूर रहें:

बोलने में तो आसान है की तनाव से दूर रहना चाहिए जब कि ऐसा हो नहीं पाता, हम सभी को किसी न किसी चीज को लेकर तनाव (टेंशन) होता रहता है पर यही तनाव लम्बे समय के लिए हो तो आप बहुत सारी  बीमारियों को आमंत्रित कर रहे हो और इसमें से एक बीमारी हार्ट कि हो सकती है क्युकी तनाव अधिक होने पर शराब सिगरेट आदि का सेवन ज्यादा होने लगता है जिससे हार्ट कि प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए तनाव से बहुत दूर रहना चाहिए.

योगा, प्राणायाम, एक्सरसाइज:

टहलना (Walking) - टहलने से आप हमेशा फिट रहते हैं इसलिए  लोग वाक  करें इससे खून का प्रवाह में तेजी आती है और हार्ट हैल्थी रहता है, इसलिए हार्ट के पेशेंट को टहलने कि सलाह दी जाती है.

स्ट्रेचिंग (Stretching) - स्टेचिंग करने से मांस पेंशियों में खून का प्रवाह बना रहता है इसलिए हार्ट पेशेंट को स्ट्रैचिंग करना चाहिए.

आप अपने दिल को स्वस्थ और फिट रखने के लिए नीचे दिए गए योग को  कर सकते हैं:

तड़ासन - 

Mountain Pose
ताड़ासन





त्रिकोणासन
त्रिकोणासन

Surya Namaskar Yoga
सूर्य नमस्कार


सेतुबंधासन
सेतुबंधासन
सेतुबंधासन
Share:

Healthy Heart Tips, Healthy Heart Diet, Yoga & Exercise for Healthy Heart

Now days everyone is troubled by some diseases in which heart problem is a major disease, the main reason for this is wrong eating habits, consumption of alcohol, cigarettes, etc., eating more fatty foods, no physical activity. There can be many reasons for doing, taking more tension, so today we will discuss it in detail and know what to do and what not to do to keep the heart healthy and strong.
Heart Image
Heart

Eat fiber-rich Food:

beans, lentils, tomatoes, carrots, broccoli, beetroot, bananas, oatmeal, beans, apples, lemons, pears, pineapples, etc. contain fiber, food that is fiber, an important element of any heart-healthy diet is. Eating a diet high in fiber low-density Lipoprotein (LDL) improves cholesterol levels by lowering cholesterol. So to keep your heart healthy, include fiber-rich foods in your diet.

Avoid eating high-fat Foods:

Most of the food items found in the market such as burgers, pizza, samosas, etc. are very harmful for the heart, so they should be consumed less and it is more beneficial to eat homemade foods, eating more fat foods. Should be avoided as all these are harmful for the heart, the use of nutritious elements, green vegetables, etc. in the food should be increased.

Do not consume Cigarettes and Alcohol:

At the time of drinking, there may be a temporary increase in heart rate and blood pressure, drinking too much alcohol can increase the heartbeat, raise high blood pressure, weaken the heart muscle and reduce the heartbeat , All these reasons can increase the risk of heart attack.

Stay away from Stress:

It is easy to say that you should stay away from stress when it does not happen, we all have tension about something or the other, but if this stress is for a long time, then you invite many diseases And one of these diseases can be heart problem due to high stress, when we are in stress then consume more alcohol cigarettes etc., which can cause heart problems, so stay away from stress.

Yoga, Paranayam and Exercise for Heart:

Walking - You are always fit by running or walking, so heart patient  should walk daily around 20-30 minutes , this accelerates the flow of blood and keeps the heart healthy, So doctor recommend running and walking to heart patient.

Stretching - Stretching keeps the blood flow in the muscles, so the heart patient should be stretching.


You can do below mention Yoga to keep your Heart Healthy and Fit.

Mountain Pose 


Mountain Pose
Mountain Pose

Warrior Pose 
Warrior Pose
Warrior Pose

Bridge Pose 

Bridge Pose
Bridge Pose


Trikonasan
Trikonasan

Surya Namskar 
Surya Namaskar



Share:

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

About

Awareness and Solution for common problems, Benefits of Yoga and Pranayam.

Theme Support